संदेश इंडिया में आपका स्वागत है आप देख रहे है संदेश इंडिया 24x7 न्यूज़ चैनल.... आप संदेश इंडिया को www.sandeshindia.com पर लाइव देख सकते है । आप फेसबुक , यूट्यूब , ट्विटर पर फॉलो भी कर सकते है । लाइव , डीलाइव , रिकॉर्डिंग , विज्ञापन , कथा - भगवत , व अन्य प्रोग्राम के लिये संपर्क करें - 9456800620 .... संदेश इंडिया को आवश्यकता है संवाददाता , कैमरामैन , मार्केटिंग मैनेजर की । आप हमें ईमेल करें - sandeshindiatv@gmail.com पर ....

मंदसौर में बेकाबू हुआ किसान आंदोलन, पीएम मोदी ने की अहम बैठक, शिवराज की अपील- शांति बनाए रखें

मध्य प्रदेश में किसान आंदोलन के दौरान हुई पुलिस फायरिंग और किसानों के मुद्दों पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वरिष्ठ मंत्रियों के साथ मीटिंग कर रहे हैं. सूत्रों के अनुसार-देश के कई हिस्सों में किसानों का प्रदर्शन और मंदसौर में हुई फायरिंग पर इसमें चर्चा हुई. गृहमंत्री राजनाथ सिंह, नितिन गडकरी, कृषि मंत्री राधामोहन सिंह समेत कई वरिष्ठ मंत्री इस बैठक में शामिल हुए.

मंदसौर में पांच किसानों की मौत के बाद गुस्से में किसान, धक्का-मुक्की के बाद डीएम को भागना पड़ा- दरअसल, मंदसौर के पिपलियामंडी में पुलिस फ़ायरिंग में 5 किसानों की मौत के बाद हालात बिगड़ते जा रहे हैं. आज किसानों को समझाने के लिए डीएम पहुंचे तो किसानों का गुस्सा उन पर ही फूट पड़ा. उनके साथ धक्का-मुक्की हुई, जिसके चलते उन्हें तुरंत वहां से भागना पड़ा.

रतलाम-नीमच लाइन पर असर 
उधर, किसान आंदोलन के चलते रतलाम-नीमच लाइन पर असर पड़ा है. रतलाम-नीमच लाइन पर पटरियों को नुक़सान पहुंचाया गया. यहां पर ट्रेनें रोकी गईं.

शिवराज सिंह चौहान की अपील
मध्य प्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कांग्रेस पर हिंसा भड़काने का आरोप लगाया है और साथ ही जनता से अपील की है कि शांति बनाए रखें और अफवाहों पर ध्यान न दें.

नेताओं को मंदसौर जाने से रोका गया
इधर प्रदेश बीजेपी के अध्यक्ष नंदकुमार सिंह चौहान और मंत्री गौरीशंकर बिसेन को प्रशासन ने मंदसौर पहुंचने से पहले ही रोक लिया. मंदसौर से सांसद रह चुकीं कांग्रेस की मीनाक्षी नटराजन भी पीड़ित परिवारों से मिलने जा रही थीं. उन्हें भी पुलिस ने हिरासत में ले लिया. किसानों की मौत के विरोध में किसान संगठनों और कांग्रेस ने आज मध्य प्रदेश में बंद बुलाया है. कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी गुरुवार को मंदसौर जाएंगे.

मंदसौर में लगा है कर्फ्यू, इंटरनेट पर बैन
वहीं मंदसौर की पिपलियामंडी में कर्फ्यू लगा है. वहीं मंदसौर के साथ- साथ रतलाम, नीमच ज़िले में मोबाइल इंटरनेट पर रोक लगा दी गई है ताकि अफ़वाहों से बचा जा सके. पूरे मंदसौर ज़िले में धारा 144 लगाई गई है. कड़ी सुरक्षा तैनात की गई है… इधर पीड़ित परिवार मुख्यमंत्री के आने तक अंतिम संस्कार न करने की ज़िद पर अड़ा है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *