संदेश इंडिया में आपका स्वागत है आप देख रहे है संदेश इंडिया 24x7 न्यूज़ चैनल.... आप संदेश इंडिया को www.sandeshindia.com पर लाइव देख सकते है । आप फेसबुक , यूट्यूब , ट्विटर पर फॉलो भी कर सकते है । लाइव , डीलाइव , रिकॉर्डिंग , विज्ञापन , कथा - भगवत , व अन्य प्रोग्राम के लिये संपर्क करें - 9456800620 .... संदेश इंडिया को आवश्यकता है संवाददाता , कैमरामैन , मार्केटिंग मैनेजर की । आप हमें ईमेल करें - sandeshindiatv@gmail.com पर ....

कभी करोड़ पति रहा परिवार मांग चुका है इच्छा म्रत्यु गरीबी के कारण घास की रोटी और पीपल का साग खा कर रहा गुजारा :वीडयो वायरल

पिता की शराब की लत ने करोड़पति परिवार की खुशियों को ग्रहण लगा दिया, 10 साल पहले तक खुशहाल परिवार पिता की नशे की लत के कारन इस कदर भुखमरी की कगार पर पहुँच गया है की उसेघास मिलकर रोटिया बनानी पड़ रही है और सब्जियों के रूप में पीपल और जामुन का साग खाना पड़ रहा है|ऐसा नहीं है की दिव्यांग बच्चियों ने मदद पाने की कोशिश नही की|पीड़ित परिवार जिलाधिकारी से इच्छा म्रत्यु तक माग चुका है ,मीडिया के हस्तक्षेप के बाद अधिकारिओं ने दौड़ लगाईं पर किया कुछ नही और अभी दौरे पर आई काबिना मंत्री रीता बहुगुणा जोशी से गुहार लगाने पर उन्होंने भी अपने फंड से बच्चो का इलाज और मादा का आश्वासन सार्वजनकि रूप से दिया पर वो बात भी हवा हवाई ही रही और जमीनी तौर पर कुछ न हुआ|
 
दोनों पैरों से दिव्यांग रवनीर सिह का परीवार आगरा के शमशाबाद रोड के पास स्थित कहरई मोहल्‍ले में रहता है। इनके 3 बेतिया  हैं और ये सभी पैर से दिव्यांग  हैं। रवनीर के मुताबिक, ”एक दशक पहले उसने बीघा जमीन की खेती करने के लिए ग्राम प्रधान से रुपए लिए थे।उसे शराब की लत लग गयी थी इसलिए खेती का काम नही हुआ और   कर्ज बढ़ता गया। इसके बाद प्रधान ने बिचौलिए के जरिये मेरे नाम से  बैंक से 27 लाख रुपए का लोन लिया लों भले ही मेरे नाम हुआ पर बैंक मैनेजर और बिचौलिए लोन का काफी रकम खा गए। इसी चक्कर से  खेती भी चली गई और लोन वापस करने के लिए रुपए भी नहीं जुटा पा रहे हैं।  शराब के नशे में पिता की सूदखोरों ने करोड़ों की जमीन हड़प ली |पिता की हालत धीरे धेरे खराब हो गयी और वो बीमार रहने लगे|मासूम दिव्यांग बच्चो ने अपनी कमजोरी को ताकत बना अधिकारिओं के यहाँ चक्कर काटना शुरू किया जब कोई काम नही बना तो पूरे परिवार ने सामूहिक रूप से जिलाधिकारी कार्यालय आकर इच्छा म्रत्यु की मांग की |मामला हाईलाईट होने पर अधिकारिओं ने पीड़ित परिवार के पास दौड़ लगे और मदद का आश्वासन दिया|आश्वासन के बाद अधिकारिओं ने कहा की इतना बड़ा मकान है आपका ऐसे में मदद नही की जा सकती |पीडित बच्चिय बीती 28 अप्रैल को  माँ के साथ टूरिस्ट बंगलो में रीता बहुगुणा जोशी से भी मिली वहा भी उनका इलाज अपने फंड से कराने का वादा कर के मंत्री तो चली गयी पर पीड़ित की कोई मदाद नही हुई|  आर्थिक तंगहाली के चलते हरि सब्जियों की जगह दिव्यांग परिवार पीपलजामुन के पत्तों की सब्जी खाने को मजबूरहो गया है| आंटा कम पड़ने पर आंटे में घास मिलाकर परिवार के सदस्यों को रोटियां बनानी पद रही हैं| मुँह छिपाकर दिव्यांग बहने बाहर  घासलेकर आती हैं और ,पीपलजामुन के पत्ते का साग बना कर भूख मिटा रही हैं|अब परिवार के पास अधिकारिओं के चक्कर काटने के लिए किराए के पैसे भी मुश्किल हो गये हैं| एक मददगार ने बातो बातो में परिवार की हालत के विडियो बना कर सोशल साइट्स पर वायरल कर दिए हैं जिसके बाद एक बार फिर अधिकारिओं की पोल खुल गयी है|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *