संदेश इंडिया में आपका स्वागत है आप देख रहे है संदेश इंडिया 24x7 न्यूज़ चैनल.... आप संदेश इंडिया को www.sandeshindia.com पर लाइव देख सकते है । आप फेसबुक , यूट्यूब , ट्विटर पर फॉलो भी कर सकते है । लाइव , डीलाइव , रिकॉर्डिंग , विज्ञापन , कथा - भगवत , व अन्य प्रोग्राम के लिये संपर्क करें - 9456800620 .... संदेश इंडिया को आवश्यकता है संवाददाता , कैमरामैन , मार्केटिंग मैनेजर की । आप हमें ईमेल करें - sandeshindiatv@gmail.com पर ....

रूस के सेंट पीटर्सबर्ग में दो मेट्रो स्टेशनों पर बम धमाके में 10 की मौत, 50 घायल

रूस के सेंट पीटर्सबर्ग में दो मेट्रो स्टेशनों पर सोमवार की शाम बम धमाके हुए हैं. इन धमाकों में कम से कम 10 लोगों की मौत हो गई, वहीं 50 से ज्यादा लोग घायल हुए हैं. हताहतों में बच्चे भी बताए जा रहे हैं. इन धमाकों में हताहतों की संख्या बढ़ने की आशंका जताई जा रही है. वहीं शहर के सभी मेट्रो स्टेशनों को एहतियातन बंद करा दिया गया है.

कहां हुआ धमाका?
जानकारी के मुताबिक, सेंट पीटर्सबर्ग के मेट्रो स्टेशनों पर ट्रेन को निशाना बनाया गया है. इसके कारण स्टेशन धुएं से भर गया है. धमाके के बाद स्टेशन पर अफरातफरी मच गई और पास के तीन स्टेशनों को बंद कर दिया गया है. कई लोग घायल हुए हैं.

प्राथमिक जानकारी के मुताबिक, धमाका इतना बड़ा था कि ट्रेन का दरवाजा उड़ गए. बताया जा रहा है कि धमाके के लिए IED का इस्तेमाल किया गया है. स्थानीय मीडिया की रिपोर्ट्स के मुताबिक, मेट्रो स्टेशन पर जगह-जगह खून के धब्बे दिख रहे हैं. धमाकों के बाद शहर के सभी मेट्रो स्टेशनों को बंद कर दिया गया है और सुरक्षा जांच बढ़ा दी गई है.

दो मेट्रो स्टेशन को बनाया निशाना
लोकल मीडिया के मुताबिक, हमलावरों ने 2 मेट्रो स्टेशनों को निशाना बनाया. धमाके के कारण मेट्रो स्टेशन की टनल में भी दरार आ गई है. सेंट पीटर्सबर्ग के सनाया स्क्वैयर और सनाया प्लोशचाद स्टेशन को निशाना बनाया गया. यहां भारी संख्या में सुरक्षाबल और कई एंबुलेंस देखी गई.

धमाकों पर ये बोले पुतिन
राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने धमाकों में मारे गए लोगों के परिजनों के प्रति शोक संवेदना जाहिर की है. इन धमाकों को लेकर प्रतिक्रिया देते हुए पुतिन ने कहा, इस धमाकों के पीछे आतंकी हमले सहति सभी संभावित कारणों को ध्यान में रखते हुए जांच की जाएगी.

इससे पहले 2010 में मॉस्को के दो मेट्रो स्टेशनों पर आत्मघाती हमले में 40 लोग मारे गए थे, जबकि 100 से ज्यादा लोग घायल हुए थे। उस हमले की जिम्मेदारी चेचन विद्रोहियों ने लिया था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *